300 गाँव की बिजली गुल, अब शहर भी होगा अंधकारमय - Pratapgarh Samachar

Breaking

गुरुवार, 20 जुलाई 2017

300 गाँव की बिजली गुल, अब शहर भी होगा अंधकारमय


प्रतापगढ़ : जनपद के 300 गाँव लगभग दो हफ्तों से अंधेरे में हैं। अब इन मुसीबत की बारी शहरी इलाको की है। अगर शहर में ट्रांसफॉर्मर जल गया तो इन गाँवों जैसी स्थिति शहर में भी हो जाएंगे। कारण विद्युत विभाग के पास न तो बदलने के लिए ट्रांसफॉर्मर हैं और न ही रिपेयर के उपकरण ही उपलब्द हैं। ऐसे में यदि बारिस होती है तो शहर की दुर्दशा निश्चित है।

जुलाई के महीने में हुई भारी बरसात से जनपद में लगभग 150 से ज्यादा ट्रांसफॉर्मर दग गए थे। इससे लगभग 300 गाँवों की लाइट अब तक बाधित है। विभाग ने लिखापढ़ी कर दगे ट्रांसफॉर्मर को चेंज करने के लिए चिलबिला वर्कशॉप भेज दिया। वहां में न तो नए ट्रांसफॉर्मर हैं और न ही रिपेयर के उपकरण ही बचे हैं। लोग आये रोज़ अधिकारियो के पास हंगामा कर रही है, नेताओं का भी प्रेशर है। लेकिन अधिकारी करें तो क्या? वे लगातार उच्चाधिकारियों को लैटर भेज रहे हैं, पर इस वक्त बिजली संकट का हल दिख नहीं रहा है।

शहर के इन इलाकों में लगे हैं ट्राली ट्रांसफॉर्मर 
कपूर चौराहा, खुशखुशवापुर, स्टेशन रोड, पल्टन बाजार और विवेकपुर में ट्राली ट्रांसफॉर्मर लगे हैं। दगे हुए ट्रांसफॉर्मर की रिपेयरन न हो पाने की वजह से इन ट्राली ट्रांसफॉर्मर को यहाँ से हटाया नही जा सकता। इसके अतिरिक्त विभाग के पास ट्राली ट्रांसफॉर्मर भी नहीं हैं कि इमरजेंसी में उपयोग किया जा सके।

जनपद के इन गाँवों का दगा है ट्रांसफॉर्मर 
चतुरपुर, लपकन, गजेहड़ा, जलालपुर, भुपियामऊ, चाँदपुर, कोल बजरडीह, कांधरपुर, लसुर, उतराव, पचखरा, कंजास, पूरे पितई, भैरोगंज, शीतलपुर, रैया का पुरवा, नमक शायर, कोपा, दाउदपुर, गोपालपुर, खरहर, पुरैला, कलियानापुर, औवार, नेवादाकला, पूरे पांडेय, हरदोई पाल की बस्ती, सराय खांडेराय, भवानीगढ़, पूरे खरगराय, मधुपुर, बनपुरवा, खूझीकला, लाखापुर, सुवंशा, दोहरी, सुरदया, चकबनतोड़, हालामई, तिगुनाइतपुर, महीबर बस्ती, रामपुर, नेकुआ, खरवई, सुगाहीबाग,, गहरीचक, उमरी, कपासी, रस्तीपुर, अमरपुर, बीरमऊ, अवधानपुर, बहुमार, बाजी, सिटी, सांगापुर, सेतापुर, बिबियापुर, सुमेरपुर, बहलोलपुर सहित 300 गाँवों में जला ट्रांसफॉर्मर न बदले जाने के वजह से अंधेरा पसरा हुआ है।

कत्तई आसान नही ट्रांसफॉर्मर को चेंज करना 
वर्कशॉप में ट्रासंफार्मर चेंज करना कोई आसान काम नही है। आए दिन ट्रांसफॉर्मर को लेकर उपभोक्ताओ और कर्मचारियों में कहा-सुनी होती रहती है। दफ्तर खुलते ही लोग ट्रांसफॉर्मर लेने के लिए भीड़ जमा हो जाती है। पर उपभोक्ताओं को कर्मचारियों से यह सूचना मिलती है कि अभी ट्रासंफार्मर मिलने में कई दिन लग सकते हैं। इससे उपभोक्ता हताश होकर वापस लौट जाते है। ट्रांसफॉर्मर को लेकर आए दिन कई कम्प्लेन इलेक्ट्रिक विभाग के उच्चाधिकारियों से की जा रही है। लेकिन समस्या जैसी की तैसे की तस बरकरार है।

क्या इनका कहना है विभाग का? 
जैसे-जैसे ट्रांसफॉर्मर मिल रहे है, उसे जिले में भेजा जा रहा है। इस समय ट्रांसफॉर्मर की समस्या को दूर करने में बिजली विभाग पूरंतः प्रयासरत है। शीघ्र ही यह समस्या समाप्त हो जाएगी।