ATS के 2 सिपाहियों सहित 8 पुलिसकर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज, 10 साल पुराना हैं मामला - Pratapgarh Samachar

Breaking

शनिवार, 22 जुलाई 2017

ATS के 2 सिपाहियों सहित 8 पुलिसकर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज, 10 साल पुराना हैं मामला


प्रतापगढ़ : करीब दस साल पहले जूस विक्रेता को झूठे मामले में फंसाने के दोषी पाए गए वाराणसी ATS के 2 सिपाहियों सहित 8 पुलिस कर्मियों पर केश दर्ज किया गया है। नगर कोतवाली में FIR लिखाई है। 
नगर के पुराना मालगोदाम रोड के रहने वाले अहमद हुसैनउर्फ़ बबलू को उसकी जूस की दुकान से 6 सितंबर सन 2007 को कोतवाली पुलिस ने अरेस्ट कर कारावास भेजा था। उसके कब्जे से डायजापाम की पांच सौ गोलियाँ बरामद करने का क्लेम किया गया था। अहमद हुसैन की माँ शकीला बेगम ने करप्शन निवारण संस्था (एंटी करप्सन शाखा) के I.G. से कम्पलेन की थी कि उसके बेटे का गलत तरीके से चालान किया है। पुलिस ने 6 सितंबर शाम के साढ़े सात बजे अरेस्ट किया था। माँ का कहना था कि बेटे को सिपाही बृजेंद्र राय, जावेद सहित अन्य पुलिसकर्मियों ने 5 सितंबर शाम साढ़े चार बजे गिरफ्तार कर ले गए थे। मामले की जाँच भ्रष्टाचार निरोधक ब्रांच बरेली के इंस्पेक्टर सुरेंद्र सिंह को मिली थी। उनकी इन्वेस्टीगेशन में बबलू को 5 सितंबर को गिरफ्तार किये जाने की पुष्टि हुई। तार बाबू रामदुलार ने 5 सितंबर 2007 को टेली ग्राम किए जाने की पुष्टि की। इंस्पेक्टर सुरेंद्र सिंह की तहरीर पर उस वक्त तैनात कोतवाल रहे परशुराम (अब वें सेवा निवृत्त हो गये हैं), सब-इंस्पेक्टर .सुभाषचंद्र राय, कांस्टेबल राम चंद्र गौतम, अनीस तिवारी, हरि शंकर मिश्र, देवेन्द्र बहादुर सिंह, बृजेंद्र राय और जाहिद के खिलाफ मुकदमा रजिस्टर कर लिया गया है। फिलहाल सुभाषचंद्र राय सोनभद्र में इंस्पेक्टर हैं जब कि सिपाही जाहिद व बृजेंद्र राय ATS Varanasi में हैं। मुख्य कांस्टेबिल राम चंद्र गौतम फतेहपुर जिला के खखेरू थाने,, सिपाही देवेन्द्र सिंह मलवा थाने, सिपाही हरि शंकर मिश्र असोधर थाने और सिपाही अनीस तिवारी मऊ के रानीपुर थाने में तैनात हैं।