डेरवा में पकड़ी गई शराब, तस्करों ने पुलिस पर की फायरिंग - Pratapgarh Samachar

Breaking

शनिवार, 19 अगस्त 2017

डेरवा में पकड़ी गई शराब, तस्करों ने पुलिस पर की फायरिंग


डेरवा: जनपद में शराब का अवैध कारोबार थमने का नाम नहीं ले रहा है। इसके लिए शराब तस्कर पुलिस प्रशासन पर हमला करने से भी पीछे नही हट रहे हैं। जेठवारा थाना क्षेत्र में शुक्रवार को पुलिस दल ने इसी प्रकार की 425 पेटी शराब पकड़ा। इस बीच तस्करों ने पुलिस दल पर गोली से फायरिंग की और गाड़ी में बैठकर फरार हो गए।
शुक्रवार के दिन पुलिस को जानकारी मिली कि सराय आनादेव बाजार के राजा की सराय बाग में शराब से भरी एक डीसीएम (गाडी) खड़ी है, जिसके बाद SO जेठवारा बी०पी० त्रिपाठी अपनी पुलिस दल के संग मौके पर पहुंचे तो वहां डीसीएम से मादक पेय के गत्ते उतार कर जीप और कार में लादा जा रहा था। पुलिस दल को देखते ही शराब तस्करों ने पुलिस पर गोली दागनी शुरू कर दी। इससे मजबूरन पुलिस को बैकफुट आना पडा, जिसका लाभ उठाते हुए सभी तस्कर फायरिंग करते हुए ब्लैक कलर की स्कॉर्पियो से बैठकर भाग गए। कुछ दूर तक पुलिस ने उनका पीछा किया, मगर पुलिस शराब अफियाओ को नही पकड़ पाई।
मौके से पुलिस ने डीसीएम ट्रक, दो बोलेरो और एक अल्टो कार बरामद की है । बरामद किये गए बोलेरो में से एक बोलेरो  बिना नंबर के ही है। पुलिस के मुताबित यह मादक पेय हिमाचल प्रदेश से आयत किया गया था। जिसे स्थानीय बाजार में बेचने की योजना थी।

मीटिंग में व्यस्त अधिकारीयों को नहीं जानकारी
SP की क्राइम मीटिंग तथा इसके बाद DM की IGRS सम्बंधित बैठक में पुलिस अधिकारी इस तरह बिजी रहे कि उन्हें शराब बरामदगी जैसी एक बड़ी घटना के बारे में जानकारी ही न मिली। SO सदर को रात 8 बजे तक इस घटना की सूचना नहीं थी तो SP पश्चिमी बसंत लाल को यह मालूम नहीं पडा था कि शराब तस्करों ने पुलिस दल पर गोली चलाई थी।

हटे राजनैतिक हाथ, तो भैया बने बात
प्रतापगढ़ में शराब की तस्करी का यह अवैध धंधा बड़े स्थर पर चल रहा है, मफ्गर पुलिस स्मगलर्स के विरुद्ध ढंग से कार्रवाई नहीं करन में असक्षम है। क्योंकि कोई कठोर कार्रवाई होने पर माफियाओ के पीछे इनके सियासी आकाओ, नेताओ के हाथ खड़े हो जाते हैं, जिससे आगे पुलिस-प्रशासन विवश और लाचार हो जाती है। यद्यपि SP शगुन गौतम ने बताया हैं कि पुलिस पूरी तरह सख्ती से अपना कार्य कर रही है एवं जहाँ कहीं भी शराब तस्कर प्रकाश में आ रहे हैं, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जा रही है।