प्रतापगढ़ में दो और महिलाओ की चोटी कटी - Pratapgarh Samachar

Breaking

रविवार, 6 अगस्त 2017

प्रतापगढ़ में दो और महिलाओ की चोटी कटी


बेल्हा में भी चोटी कटने के दो और मामले सामने आये है। शुक्रवार रात 2 औरतों की चोटी काटने का प्रकरण सामने आया। चोटी कटने के बाद दोनों महिलाएं मूर्छित हो गईं। हॉस्पिटल ले जाने पर उन्हें चेतना आया। इस घटना से गाँव के लोगो में भय का माहौल है। मौके पर आई पुलिस मामले की तफ्तीश करने के बाद इस प्रकार की घटना से इनकार कर रही है।
लालगंज थाना अंतर्गत आने वाले रोहाड़ा बकियन का पुरवा की रहने वाली 28 वर्षीय सुमन सरोज पत्नी हरकेश सरोज शुक्रवार रात परिजनों के साथ कोठे पर मोबाइल में फिल्म देख रही थी। कुछ देर के बाद वह सो गई। परिवार के बाकी के सदस्य मोबाइल पर फिल्म देखने में बिजी रहे। लेकिन रात 12 बजे के लगभग सो रही सुमन को सहसा आभास हुआ कि उसके फेस पर कोई खरोंच रहा है। इससे वह डर के उठकर बैठ गई और घरवालो को यह बात बताई। इस बीच किसी की निगाह बिस्तर पर पड़ी जहाँ कटकर गिरे बाल पडा मिला। टोर्च से जलाकर देखने पर वह सुमन का बाल निकला। तभी सुमन बेहोश हो गई। सुबह चोटी कटने की न्यूज वन में आग की तरह इलाके में फैल गई। लोग देखने के लिए आने लगे। खटिये पर बेहोश पड़ी सुमन को देखने के लिए भीड़ इकठ्ठा गई। जानकारी मिलने पर रानीगंज कैथौला चौकी पुलिस रोहाड़ा ग्राम आई और घटना की पड़ताल की। पुलिस की तफ्तीश में यह स्पष्ट नहीं हो सका कि महिला की चोटी थ्व बाल कैसे कटी। मूर्छित महिला को शनिवार दोपहर ग्यारह बजे के लगभग होश में आई। महिला ने पुलिस से कहा कि कि रात में सोते वक्त उसे आभास हुआ कि उसकी कोई चोटी काट रहा है। नींद खुली तो चोटी कटे देख उसके होश उड़ गए। पुलिस छानबीन कर रही है, फिलवक्त जांच में चोटी काटने प्रकरण संदिग्ध और रहस्यमयी प्रतीत हो रही है।

ठीक ऐसे ही दूसरी घटना जिले के पट्टी कोतवाली क्षेत्र के गाँव आशापुर अठगवां निवासी 27 वर्षीय अनीता शर्मा पत्नी रमेश शर्मा से साथ घटी. शुक्रवार रात घर के बाहर चारपाई पर सो रही अनीता रात लगभग 11.30 बजे अचानक वह सहम गई। रात को अनीता पानी पीने के लिए उठी तो अचंभित रह गई। उसकी चारपाई के सिराहने पर उसका बाल कटा पड़ा मिला। यह देख डरी अनीता बेहोश होने लगी। यह देख परिजन भी सहम उठे। घरवालो ने घटना की सूचन पुलिस को दी। मौके पर आई डायल 100 की टीम ने उसे इलाजके लिए पट्टी CHC ले गई। उपचार के बाद चिकित्सको ने उसे घर भेज दिया। शनिवार की सुबह अनीता को देखने के लिए गाँव वालों का ताता लगने लगा जिससे उसकी तबियत फिर खराब हो गई। परिजन उसे लेकर फिर हॉस्पिटल पहुंचे। जहां अनीता का इलाज जारी है। निकटवर्ती इलाकों में दहशत का माहौल बरकरार है। जिले के एसपी शगुन गौतम ने कहा कि जो बाल पाए गए हैं, वह चोटी के नहीं प्रतीत होते।