लालगंज सी.एच.सी. के पास ही फेंके गए नवजात शिशु के मृत शरीर को कुत्तों ने नोचा, सब देखते रहे - Pratapgarh Samachar

Breaking

गुरुवार, 17 अगस्त 2017

लालगंज सी.एच.सी. के पास ही फेंके गए नवजात शिशु के मृत शरीर को कुत्तों ने नोचा, सब देखते रहे

 
प्रतापगढ़, लालगंज सी.एच.सी के बाउंड्री के समीप गुरुवार  को घूर(जंहा गोबर इकट्ठा करते हैं) में एक नवजात बच्चे का शव मिला उसके बाद जो हुआ एकदम साफ है स्वास्थ्य कर्मी और पुलिस कितनी लापरवाह है। यह देख स्थानीय लोग भड़क उठे इस तरह लोगों का आक्रोश देख कर्मचारियों ने बच्चे के शव को वँहा से उठाया और सी.एच.सी. ले गए। लेकिन थोड़ी देर बाद कानून का बहाना बना वापस वंही फेंक गए।
      पुलिस को अवगत कराने पर भी पुलिस समय पर नहीं पहुंची और समय पर न पहुंचने के कारण शिशु के शव को आवारा कुत्ते नोंचते, घसीटते दिखे।
       लालगंज अझारा कोतवाली के क्षेत्र में  स्थित सी.एच.सी. बाउण्ड्री के समीप दो मकान हैं उन्ही मकानों के बीच खाली पड़े एक प्लाट में घूर(जंहा गोबर इकट्ठा करते हैं) में गुरुवार को सुबहसाढ़े ग्यारह बजे करीब आठ माह के नवजात शिशु का शव मिलने से हड़कम्प मच गया। कुछ ही देर में मौके पर लोगों की भीड़ इकठ्ठा हो गई और यह सब देख भीड़ आक्रोशित थी तुरंत ही मामले की जानकारी कोतवाली पुलिस  एवं सीएचसी अधीक्षक को दे दी गई।

परंतु लोगों द्वारा सूचित किये जाने के बावजूद सी.एच.सी. एवं कोतवाली की इतनी बड़ी लापरवाही देख लोग नाराज हो गए और आक्रोशित हो गए। मामले की गम्भीरता को भांपकर कुछ स्वास्थ्यकर्मी शव को निकालकर सी.एच.सी. ले गये। फिर उन लोगों को पता नहीं क्या हुआ कुछ समय बाद एक स्वास्थ्यकर्मी द्वारा नवजात के शव को ले जाकर फिर से उसी घूर में रख दिया गया। अब तक पुलिस आयी नहीं थी थोड़ी देर में कुत्ते जरूर आ गए आवारा कुत्तों द्वारा शव नोंचते, घसीटते देख भीड़ एक बार फिर इकट्ठा हो गए।इस सूचना के करीब तीन घण्टे बाद कोतवाली पुलिस के सिपाही पहुंचे उन्होंने शव उठाया इसके बाद शव का पंचनामा कराकर पोस्टमार्टम की बात कही।
    इस मामले में स्वास्थ्य विभाग पर मिली भगत का आरोप आसपास के लोग लगा रहे थे और कह रहे थे कि आसपास खुले अवैध नर्सिंग होम की कारस्तानी है ये कृत्य। लोगों का कहना था कि आसपास खुदाई कराई जाए तो एबार्शन का खेल करने वालों की वजह से नवजात के कंकालों का  जखीरा तक मिल सकता है।