शिक्षामित्रों के आंदोलन से शिक्षा प्रणाली प्रभावित, कुंडा के 22 स्कूलों में लटक रहे है ताले - Pratapgarh Samachar

Breaking

बुधवार, 23 अगस्त 2017

शिक्षामित्रों के आंदोलन से शिक्षा प्रणाली प्रभावित, कुंडा के 22 स्कूलों में लटक रहे है ताले


कुंडा। शिक्षामित्रों के आन्दोलन का परिणाम है कि यहाँ शिक्षा व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है। जिले विशेषकर कुंडा के कई विद्यालयों में ताला झूल रहा है, विद्यार्थी स्कूल आते है और ताला लटकते देख निराश हो कर वापस लौट जाते है। शिक्षामित्रों के आंदोलन से कुंडा के 22 स्कूलों में ताले लग गए हैं। अगर इनकी व्यवस्था शीघ्र ही नहीं की जाती तो इन विद्यार्थियों की पढाई का यह पूरा साल खराब चला जायेगा। डिपार्टमेंट ने अपनी व्यवस्था को अच्छा दिखाने के उद्देश्य से कई स्कूलों के टीचर्स को दूसरे स्कूलों में संबद्ध कर दिया है मगर फिर भी इसका कोई लाभ नहीं हुआ है। स्कूलों में ताले जस के तस लटक रहे है।

अदालत से शिक्षामित्रों के खिलाफ में निर्णय आने के बाद से स्कूलों में ताले झूल गए हैं। शिक्षामित्र आंदोलन में प्रतिभाग ले  रह हैं। जिससे स्कूलों को खोलने वाला कोई नही रह गया है। विद्यार्थी रोज स्कूल आते हैं। कुछ समय तक परिसर में  खेलते हैं और उसके बाद में विद्याल्लय खुलने न खुलने से निराश हो घर को लौट जाते हैं। अब स्कूलों में ताला लगने के बाद से ही यह बच्चे  सारा दिन गाँव-मोहल्ले में खेलते ही हैं। ग्रामीण भी इन बच्चों के फ्यूचर को लेकर चिंता कर रहे हैं। 22 स्कूलों में से 11 स्कूल उच्च प्राथमिक के हैं। फिलवक्त डिपार्टमेंट ने स्कूल संचालन की कार्रवाई को दिखाने के मंशे से सभी पाठशालाओं में एक-एक टीचर को संबद्ध कर दिया है मगर वो टीचर अपने स्कूल में शिक्षा दें अथवा फिर दूसरे स्कूल का चलाने के लिए आयें। इन सब में बच्चो ज़िन्दगी और उनका भविष्य खतरे में दिखाई दे रहा है।