मनरेगा का काम मशीन से काम करवाने वाले प्रधान जल्द नपेंगे : डी. एम . प्रतापगढ़ - Pratapgarh Samachar

Breaking

गुरुवार, 5 अक्तूबर 2017

मनरेगा का काम मशीन से काम करवाने वाले प्रधान जल्द नपेंगे : डी. एम . प्रतापगढ़

 
ग्राम पंचायत अधिकारियों व जिले के ग्राम प्रधानों के साथ एक दिवसीय अंत्योदय ग्राम समृद्धि एवं स्वच्छता पखवाड़ा का शुभारम्भ जिलाधिकारी शम्भू कुमार द्वारा राजकीय इण्टर कॉलेज के मैदान में किया गया। सभा मे बोलते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि शिकायत मिली थी कि कुछ गाँव के प्रधानों ने मनरेगा के कार्यों को मशीनों से करवाया है। इसकी जाँच पूरी हो गयी है, जल्द ही कार्यवाही की जाएगी। साथ ही उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दिया कि प्रधानमंत्री आवास योजना की प्रथम क़िस्त के कार्य पूरे होने की जाँच करके ही दूसरी क़िस्त का भुगतान किया जाय। साथ ही राशनकार्ड मामले में लगातार मिल रही शिकायतों के मद्देनजर संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया कि कोटेदार के परिवार और अपात्र लोगों को राशनकार्ड की सूची से बाहर करने का कार्य शीघ्रता से किया जाए साथ ही विकलांग, विधवा आदि योग्य लोगों को प्रथम वरीयता से सूची में शामिल करके राशनकार्ड जारी किया जाय।

      प्रतापगढ़ जिले के 12 ब्लॉक डार्क जोन घोषित किये गए हैं, जिसके लिए जिलाधिकारी शम्भू कुमार ने ग्राम प्रधानों को कार्ययोजना बनाकर जल संचय व अधिकाधिक पौधों का रोपण कराने की भी सलाह दिया। कार्यशाला में जिलाधिकारी ने बताया कि जिले के 384 ग्राम खुले में शौच से पूर्णतः मुक्त हुए हैं, ऐसे गाँव के प्रधानों को प्रशस्ति पत्र दिया जाएगा, इसकी शुरुआत जिलाधिकारी ने 11 प्रधानों को अपने हाथ से स्वच्छता प्रशस्ति पत्र देकर किया। साथ ही पर्यावरण सेना के अजय क्रांतिकारी को भी स्वच्छता और पर्यावरण संरक्षण के लिए कार्य हेतु प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया।
 

    मुख्य विकास अधिकारी राजकमल यादव ने कार्यशाला को संबोधित करते हुए कहा कि गाँव ही विकास की शुरुआत करने के प्रमुख बिंदु होते हैं और प्रधानों को अपने गाँव के पात्र और अपात्र की बेहतर जानकारी होती है, उनका ये कर्तव्य है कि वो दृढ़ संकल्प होकर असहाय व गरीबों के हित के लिए काम करें।