गड़वारा क्षेत्र में आतंक का पर्याय बन चुका अपराधी गिरफ्तार - Pratapgarh Samachar

Breaking

शनिवार, 24 फ़रवरी 2018

गड़वारा क्षेत्र में आतंक का पर्याय बन चुका अपराधी गिरफ्तार

पुलिस अधीक्षक प्रतापगढ़ शगुन गौतम के कुशल निर्देशन में, अपराध एवं अपराधियों पर अंकुश लगाने हेतु निरन्तर दिये गये निर्देश के क्रम में जनपद के थाना अन्तू के उ0नि0 सियाराम वर्मा मय हमराह थानाक्षेत्र में वाहन चेकिंग/वारण्टी/वांछित अपराधी/संदिग्ध व्यक्ति की तलाश/जांच अहकामात थानाहाजा क्षेत्र गश्त करते किशुनगंज चैराहे से होते हुए तेजगढ़ पुल पर चेकिंग कर रहे थे कि एक मोटरसाइकिल सण्डवा चन्द्रिका की तरफ से आती दिखाई दी जिसे टार्च की रोशनी द्वारा रोकने का प्रयास किया गया जिस पर तुरन्त मोटरसाइकिल व्यक्ति ने पीछे मोड़कर भागना चाहा लेकिन मौके पर ही मोटरसाइकिल फिसलकर गिर गयी । मोटरसाइकिल पर दो व्यक्ति बैठे थे मोटरसाइकिल चलाने वाले व्यक्ति ने चिल्लाते हुए अपने पीछे बैठे हुए साथी से कहा कि ये पुलिस वाले हैं इन्हे जान से मार दो नही तो ये पुलिस वाले पकड़ लेंगे और दोनो मोटरसाइकिल सवार व्यक्तियों ने जान से मारने की नीयत से पुलिस टीम पर फायर कर दिये जिससे हिकमत अमली से पुलिस टीम बच गयी। पुलिस टीम उसकी तरफ बढ़ी और घेराबंदी कर व आवश्यक बल प्रयोग करके मोटरसाइकिल चलाने वाले व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया तथा मोटरसाइकिल में पीछेे बैठा व्यक्ति अंधेरे का फायदा उठाकर नदी के किनारे जंगल की तरफ भाग गया जिसके गिरफ्तारी हेतु आवश्यक कार्यवाही की जा रही है।

गिरफ्तार अभियुक्त का विवरणः- 01. रईस पुत्र सुलेमान नि0 कुशलगढ़ थाना अन्तू जनपद प्रतापगढ़ । फरार अभियुक्त का विवरणः- 01 .सलमान पुत्र मुस्लिम नि0 आवास विकास कालोनी मीराभवन थाना को0नगर जनपद प्रतापगढ़। बरामदगीः- 01. 01 अदद पिस्टल । 02. 02 अदद जिन्दा कारतूस । 03. 01 अदद मोटरसाइकिल जिसका नम्बर यूपी72एल9451 है। उक्त गिरफ्तार अभियुक्त नें पुलिस द्वारा पूछताछ में बताया कि भागा हुआ व्यक्ति उसका साथी है और आज हम दोनो लालगंज की तरफ हाइवे पर लूट करने जा रहे थे । पुलिस टीम द्वारा कड़ाई से पूछताछ करने पर उसने बताया कि दिनांक 21.02.2018 को मोटरसाइकिल से लालजी बनिया की दुकान जो कि गढ़वारा में है उसे जान से मारने के लिए फायर किया था जिससे सम्बन्धित मु0अ0सं0-64/18 धारा 307 भादवि को अभियोग पंजीकृत है।प्रतापगढ़ समाचार को सूत्रों से मिली ख़बर के अनुसार यह बात निकल कर सामने आयी है कि लालजी उमरवैश्य के परिजन रईस को इस गोलीकांड में शामिल न होने की बात कह रहे हैं। लेकिन पुलिस का कुछ और ही कहना है। मामला अभी भी पूरी तरह से साफ नहीं है। परिजनों के ऊपर दबाव बनाया गया था कि रईस का नाम जरूर नामदज में लिखवाएं। फिलहाल कल और स्थिति स्पष्ट होगी कि पुलिस कितना सही और लालजी के परिजन कितना सही । उक्त गिरफ्तार अभियुक्त के विरुद्ध थाना अन्तू पर मु0अ0सं0- 67/18 धारा-307 भादवि व मु0अ0स0-68/18 धारा 3/25 आम्र्स एक्ट, का अभियोग पंजीकृत किया गया। उक्त गिरफ्तार अभियुक्त रईस अपराधिक इतिहासः- मु0अ0स0 धारा थाना 1-51/98 392 IPC फतनपुर 2-79/2018 392 IPC रानीगंज 3- 115/98 392 IPC कन्धई 4- 84/01 392 IPC अन्तू 5- 516/01 307 IPC को0नगर 6- 519/01 3/25 A.Act को0नगर 7-520/01 41/411 IPC को0 नगर 8- 206/03 394 IPC को0 नगर 9- 276/03 413,414 IPC को0 नगर 10- 396/03 3(2) गै.एक्ट को0 नगर 11- 291/5 396 IPC को0नगर 12-85/09 110 G CRPC अन्तू 13- 44/12 25 A. Act अन्तू 14- 304/11 504,307 IPC अन्तू 15- 45/09 386 IPC अन्तू 16- 133/16 386 IPC अन्तू 17- 146/17 8/20 NDPS ACT कौहडौर 18- 64/18 307 IPC अन्तू 19- 67/18 307 IPC पुलिस मुडभेड अन्तू 20- 68/18 3/25 A ACT अन्तू पुलिस टीमः- उ0नि0 सियाराम वर्मा मय हमराह। फिलहाल पुलिस ने जिस अपराधी को पकड़ा है वह आतंक का पर्याय बना हुआ था और आये दिन उसकी हरकतें गड़वारा बाज़ार में गूंजती थी।