पुल पर गरमायी सियासत, भाजपा समर्थित विधायक के विरोध में लगे मुर्दाबाद के नारे - Pratapgarh Samachar

Breaking

शनिवार, 3 फ़रवरी 2018

पुल पर गरमायी सियासत, भाजपा समर्थित विधायक के विरोध में लगे मुर्दाबाद के नारे


प्रतापगढ़। शासन ने एक पुल क्या पास किया, नेता टूट पड़े उसका क्रेडिट लेने। दरअसल प्रतापगढ़ जनपद में पुल पर राजनीति शुरू हो गयी है। कोहड़ौर क्षेत्र में चमरौरा नदी पर पुल के निर्माण के लिए सरकार से स्वीकृति मिल गयी हैं, जिसके बाद अब नेताओं में अब श्रेय लेने की होड़ में जुट गए है। कल सबेरे आठ बजे के लगभग ही किसान नेत्री व भारतीय किसान यूनियन की महिला प्रकोष्ठ की जिला अध्यक्षा पम्मी सिंह ने अपने कार्यकर्ताओं और क्षेत्र के किसान भाइयो के साथ शिलान्यास कर पत्थर भी लगवा दिया। वहीँ इसके बाद सदर विधायक संगमलाल गुप्ता ने शिलान्यास का कार्यक्रम प्रशासन के ओर से तय किया था।


शिलान्यास पत्थर को पुलिस ने उखाड़ा 

किसानो की नेता पम्मी सिंह द्वारा किये गए शिलान्यास पत्थर को स्थानीय कोहड़ौर पुलिस ने उखाड़ कर अपने कब्जे में रख लिया। इस पर किसान नेत्री तथा उनके किसान समर्थक नाराज हो गए। जब विधायक संगमलाल गुप्ता कार्यक्रमस्थल पर आये तो जिलाधिकारी शम्भू कुमार व अन्य अधिकारियो की उपस्थिति में शिलान्यास विधायक संगमलाल गुप्ता ने किया व भूमि पूजन के साथ दूसरा शिलान्यास पट्ट गाड़ दिया गया। इससे नाराज किसान नेत्री व उनके समर्थक भाजपा समर्थित विधायक के विरोध में हंगामा करते हुए संगमलाल गुप्ता मुर्दाबाद के नारे लगाने लगे।

इस दौरान उपस्थित पुलिस फ़ोर्स व अधिकारियो के बीच कहासुनी भी हो गयी। इसके बाद में सदर विधायक संगमलाल गाड़ी में बैठकर चले गए। वहीँ मामले में किसान नेत्री का पक्ष है कि पुल उनके और स्थानीय क्षेत्र वासियों के संघर्ष, आन्दोलन तथा शासन में पैरवी के कारण स्वीकृति मिली है। जबकि विधायक महोदय मात्र क्रेडिट लेने में आ पहुच्न्हे हैं। हालाकि इस पुल को सदर विधायक खुद की पैरवी के कारण अपूव हुआ है, ऐसा बताते है। फिलवक्त अब पुल पर सियासत चरम पर है। चमरौधा नदी पर डुहिया में बनने वाले पुल के शिलान्यास पर तनाव को देखते हुए गांव को छावनी में तब्दील कर दिया गया।