मुख्यमंत्री सामुदायिक वानिकी योजना का क्रियान्वयन मनरेगा योजना के अन्तर्गत शहर, सड़क, नहर, सामुदायिक स्थल तथा सरकारी कार्यालयों में वृक्षारोपण जल्द - Pratapgarh Samachar

Breaking

शुक्रवार, 27 अप्रैल 2018

मुख्यमंत्री सामुदायिक वानिकी योजना का क्रियान्वयन मनरेगा योजना के अन्तर्गत शहर, सड़क, नहर, सामुदायिक स्थल तथा सरकारी कार्यालयों में वृक्षारोपण जल्द



जिलाधिकारी शम्भु कुमार की अध्यक्षता में आज कैम्प कार्यालय के सभागार में गंगा हरितिमा अभियान के सफल आयोजन हेतु बैठक की गयी। बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि राष्ट्रीय नदी गंगा के निर्मल एवं अविरल प्रभाव और उसके परिस्थितिकीय तंत्र के संरक्षण तथा उसके तटवर्ती क्षेत्रों में निवास करने वाले जनमानस के जीवन स्तर में सुधार के उद्देश्य से सम्बन्धित ग्रामों के विकास हेतु गंगा हरितिमा अभियान 2018 को आयोजन किया जा रहा है। गंगानदी के तटीय क्षेत्रों में वनस्पतिक आच्छादन बढ़ने एवं मृदा क्षरण को रोकने हेतु वृहद स्तर पर 8 लाख पौधरोपण का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इस अभियान के अन्तर्गत सरकारी जमीन और निजी भूमि पर वृक्षारोपण का अभियान चलाया जायेगा। उन्होने कहा कि स्वच्छता एवं साफ-सफाई, नदी का कटान रोकने, मृदा एवं जल संरक्षण तथा लाभार्थीपरक योजनाओं से गंगा के तट पर बसे गांवों में समग्र विकास सुनिश्चित किया जायेगा। सम्बन्धित ग्राम प्रधान इन समितियों के अध्यक्ष होगें तथा ग्राम पंचायत अधिकारी इस समिति के सदस्य-सचिव होगें। अभियान में रूचि रखने वाले स्थानीय निवासियों को इस अभियान में सम्मिलित किया जायेगा। ग्राम्य विकास विभाग द्वारा मुख्यमंत्री सामुदायिक वानिकी योजना का क्रियान्वयन मनरेगा योजना के अन्तर्गत शहर, सड़क, नहर, सामुदायिक स्थल तथा सरकारी कार्यालयों में वृक्षारोपण किया जायेगा। उन्होने कहा कि समाज कल्याण विभाग द्वारा जागरूकता रैली, वृक्षारोपण में सहयोग, एक व्यक्ति एक वृक्ष कार्यक्रम में भागीदारी कराना और पेंशन योजनाओं सहित सभी लाभार्थी परक योजनाओं से अभियान क्षेत्र के गांवो का संतृप्तकरण किया जायेगा।
कृषि विभाग द्वारा गंगा नदी के किनारे बसे 18 गंगा ग्रामों में वर्मी कम्पोस्ट के उपयोग को बढ़ावा देने के लिये ग्रामीणों को प्रश्क्षित करना और जैविक खेती का व्यापक प्रचार प्रसार करने की जिम्मेदारी है। आयुष विभाग द्वारा किसानो की आय में वृद्धि होती औषधि महत्व के पौधों की जानकारी देना तथा औषधि खेती हेतु कृषकों को प्रोत्साहित करना एवं प्रशिक्षित करना है। बैठक में प्रभागीय निदेशक सामाजिक वानिकी वाई0पी0 शुक्ला, समाज कल्याण अधिकारी प्रवीण सिंह, जिला विद्यालय निरीक्षक डा0 वृजेश मिश्र सहित सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहे।