प्रतापगढ़ के कंधई मधुपुर में सी.एम. योगी लगाएंगे चौपाल, साथ ही बिताएंगे एक रात - Pratapgarh Samachar

Breaking

रविवार, 22 अप्रैल 2018

प्रतापगढ़ के कंधई मधुपुर में सी.एम. योगी लगाएंगे चौपाल, साथ ही बिताएंगे एक रात



उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ प्रतापगढ़ जिले में आ रहे हैं। जिसकी वजह से प्रशासन में हड़कंप मचा हुआ है। कल यानी 23 अप्रैल 2018 को मुख्यमंत्री प्रतापगढ़ आ रहे हैं। मुख्यमंत्री पट्टी विधानसभा के मंगरौरा ब्लॉक के कंधई थाना क्षेत्र के मधुपुर गांव में रुकेंगे और इसी गांव में चौपाल लगाकर ग्रामीणों की समस्याएं सुनेंगे।
   लोकसभा चुनाव नजदीक है और उत्तर प्रदेश में भाजपा यदि ज्यादा से ज्यादा सीट जीतेेेगी तभी सत्ता अधिक नजदीक होगी। यही कारण है कि मुख्यमंत्री बनने के लगभग 1 वर्ष के पश्चात मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को ग्रामीणों की याद आयी है। लोकसभा चुनाव ही एक कारण है जिसकी वजह से प्रतापगढ़ जिले में योगी आदित्यनाथ आ रहे हैं। दलित व पिछड़ों को रिझाने के लिए वह दलित के घर भोजन करेंगे और पिछड़ी जाति के किसी व्यक्ति के घर रात में सोएंगे। जब शनिवार की मुख्यमंत्री योगी के आने के कार्यक्रम की जानकारी जिला प्रशासन को हुई तो प्रशासन के हाथ पांव फूल गये। दिनभर प्रशासनिक अमला उसी मधुपुर गांव में अपनी गलतियों या कह लो जो काम सही नहीं हुए उनको सही करने में जुटा रहा। यहां तक साफ-सफाई के साथ बिजली, पानी, सड़क, नाली आदि सभी व्यवस्थाएं दुरुस्त कराई जाती रहीं।

   कल प्रतापगढ़ प्रशासन व भाजपा पदाधिकारियों की हालत पतली थी क्यों कि उन्हें एक दलित और एक ओबीसी जाति का घर चुनना था। यही वजह रही मुख्यमंत्री के कार्यक्रम को लेकर पल-पल वह घर बदलता रहा जहां मुख्यमंत्री को भोजन करना है और रात्रि विश्राम करना है। बात यही मुख्य थी कि मुख्यमंत्री आखिर किस दलित के घर भोजन करेंगे और किस ओबीसी के घर रात्रि विश्राम होगा। यह सब सुबह से देर शाम तक चलता रहा। जिले के बड़े बड़े  अधिकारी और भाजपा के पदाधिकारी उक्त स्थल चुनने को लेकर दुविधा की स्थिति में रहे।
    शनिवार की सुबह जब उत्तर प्रदेश के मुखिया यानी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के कार्यक्रम की सूचना प्रतापगढ़ में होने को मिली तब कार्यक्रम स्थल चयन करने को लेकर अधिकारियों की कई गाड़ियां एक गांव पहुंची, गांव का नाम मुख्यमंत्री के यहां से पहले से ही तय था। अब चिलचिलाती धूप और गर्मी में प्रतापगढ़ के जिलाधिकारी शंभु कुमार, मुख्य विकास अधिकारी राजकमल यादव, स्थानीय ब्लॉक के बीडीओ, पट्टी तहसील के एसडीएम सहित काशी प्रांत के महामंत्री रामचंद्र मिश्र व प्रतापगढ़ में भाजपा के जिलाध्यक्ष ओमप्रकाश त्रिपाठी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के लिए सुविधाओं की व्यवस्था व उनकी तैयारियों में लगे रहे।

भाजपा संगठन के इन्हीं दो लोगों ने कंधई थाना क्षेत्र के  मधुपुर गांव निवासी व वर्तमान पंचायत मित्र संजय यादव के घर रात्रि निवास का होना तय किया। वहीं दूसरी ओर दलित लेखपाल आशाराम के घर पर भोजन के प्रबंधन की बात फाइनल की गई। फिर अचानक बवाल भी होने लगा हुआ यूं कि जब रात्रि निवास के घर मालिक  का नाम स्थानीय भाजपाईयों को पता चली तब वह संजय यादव के नाम पर भड़क गए और संजय यादव को सपा का कार्यकर्ता बताते हुए विरोध व्यक्त किये। पदाधिकारी डर गए और जिला प्रशासन को जब यह सब बात पता चली तो गाँव के इन दोनों लोगों के घर कार्यक्रम निरस्त करते हुए तीसरे व्यक्ति की खोज शुरू कर दी गयी।  संगठन के पदाधिकारी घूम घूम  साफ-सुधरे दलित व ओबीसी परिवारों की खोजबीन करने लगे।
दूसरी तरफ जिला प्रसाशन ने अपनी नाकामियों को छिपाने के लिए   पूर्व माध्यमिक विद्यालय, मधुपुर में जेसीबी लगवाकर सफाई करवाई।  मुख्यमंत्री के लिए सड़क, रास्ते , साफ सफाई आदि कई अभियान चलाया गया। पूर्व माध्यमिक विद्यालय में ही मुख्यमंत्री चौपाल लगा आम जनता की समस्याओं का निराकरण करेंगे।
    मुख्यमंत्री के इस कार्यक्रम में मुख्यमंत्री का किस दलित के घर भोजन करना है और किस ओबीसी के यहां रात्रि निवास करने गए यह सब  प्रतापगढ़ जिले के भाजपा संगठन के हवाले है। अब आशाराम और संजय यादव के घर कार्यक्रम निरस्त होने के बाद  भाजपाई बड़ी चालाकी से गांव के पांच दलितों के घर बार बार देख रहे थे। वहीं रात्रि रुकने के लिये कुस ओबीसी को चुने, इन सब को अंतिम रूप देने में लगे रहे। प्रतापगढ़ समाचार टीम द्वारा खबर लिखे जाने तक प्रतापगढ़ के इस भाजपा के संगठन ने किसी का मीडिया को नहीं बताया।