लालगंज आझारा के जाम मतलब 1 घण्टे में आधा किलोमीटर का सफ़र - Pratapgarh Samachar

Breaking

शनिवार, 28 अप्रैल 2018

लालगंज आझारा के जाम मतलब 1 घण्टे में आधा किलोमीटर का सफ़र

प्रतापगढ़ की लालगंज तहसील के लालगंज नगर क्षेत्र के इंदिरा चौक से लेकर प्रतापगढ़ की तरफ आधा किलोमीटर सड़क क्षेत्र लालगंज के पुलिस-प्रशासन की अकर्मण्यता की वजह से नर्क का अड्डा बन गया है।
    यहां की पुलिस लालगंज चौराहे पर ट्रैफिक नियम बनाए रखने के लिए दुनिया बगैर की दलील देती हूं लेकिन सच्चाई यह है कि कभी एक फो सिपाही या होमगार्ड आ जाते है भयंकर जाम खुलवाने और कभी कोई नहीं आता आम जनता खुद लड़ भिड़ कर घण्टों जाम में फंसी रहती है।
  ऐसा नहीं है कि इसी राजमार्ग वाली सड़क पर जाम लगता है। चौक से लेकर तहसील  और तहसील से लेकर सीएचसी तक तगड़ी लंका लगी रहती है। क्यों कि घुइसरनाथधाम व कालाकांकर वाली सड़कों पर वाहनों की आव जाहि अक्सर सामान्य रहती है। लेकिन जब टेम्पो और जीप व अन्य वाहनों को बेतरतीब खड़े हो जाते हैं तब यह दोनों मार्ग भी जाम से ग्रसित हो जाते हैं। फिलहाल यहां किसी तरह लोग चले जाते हैं परन्तु लखनऊ-वाराणसी राजमार्ग पर गाड़ियों की संख्या अधिक होती है। ट्रक , बस, प्रतापगढ़ को जाने वाली मैजिक और दुकानों के अतिक्रमण की वजह से सुबह से लेकर शाम तक जाम का झाम रहता है। यही नहीं आने वाले समय में एक बाईपास का निर्माण होना है लेकिन तब तक के लिए आम जनता त्रस्त ही रहने वाली है।
     लालगंज के अधिवक्ताओं, व्यापारियों के साथ विभिन्न संगठनों ने जिला से लेकर कोतवाली व तहसील प्रशासन को कई बार इस स्थिति के बारे में बताया इन सब के बावजूद आज तक प्रशासन की तरफ से कोई पहल नही की गई। यह लोग केवल कोरा आश्वासन देकर आंख बंद कर लेते हैं।  आम जनता त्रस्त है और वरिष्ठ कांग्रेस नेता व पूर्व राज्यसभा सांसद प्रमोद तिवारी व पूर्व मंत्री शिवाकांत ओझा भी इस जाम से त्रस्त हैं। वह भी स्थिति को नहीं समझ पा रहे हैं।