पट्टी सम्पूर्ण समाधान दिवस में 288 फरियादी आये, 10 शिकायतों का मौके पर निस्तारण - Pratapgarh Samachar

Breaking

मंगलवार, 5 जून 2018

पट्टी सम्पूर्ण समाधान दिवस में 288 फरियादी आये, 10 शिकायतों का मौके पर निस्तारण


परिवार रजिस्टर की नकल देने में लापरवाही पर ग्राम पंचायत अधिकारी को निलम्बित करने के निर्देश

जिलाधिकारी शम्भु कुमार की अध्यक्षता में आज सम्पूर्ण समाधान दिवस तहसील पट्टी में आयोजित किया गया। पट्टी सम्पूर्ण समाधान दिवस में कुल 288 फरियादी अपनी समस्याओं के निस्तारण हेतु उपस्थित हुये जिनमें से 10 शिकायतें इस प्रकृति की पायी गयी जिनका मौके पर निस्तारण कर दिया गया। आज कुल प्राप्त 288 शिकायतों में से 92 शिकायतें राजस्व विभाग से, पुलिस विभाग से 96, विकास विभाग से 35, समाज कल्याण से 08, बेसिक शिक्षा से सम्बन्धित 07 और 50 अन्य विभागों से सम्बन्धित शिकायते सम्पूर्ण समाधान दिवस में आयी। पुलिस विभाग से सम्बन्धित शिकायतों का निस्तारण पुलिस अधीक्षक सन्तोष कुमार सिंह ने किया। 

आज के सम्पूर्ण समाधान दिवस में जिलाधिकारी के समक्ष राधेश्याम निवासी भीटीकला ग्राम पंचायत परसण्डा विकास खण्ड मंगरौरा ने शिकायत किया कि ग्राम पंचायत अधिकारी हरीलाल द्वारा परिवार रजिस्टर की नकल देने में विगत छः माह से बहानेबाजी करने की शिकायत की, उक्त प्रकरण की लापरवाही को संज्ञान में लेते हुये जिलाधिकारी ने ग्राम पंचायत अधिकारी को निलम्बित करने के निर्देश जिला विकास अधिकारी को दिये। सम्पूर्ण समाधान दिवस में चित्रसेन निवासी बीरापुरखुर्द ने कोटेदार द्वारा विगत चार माह से राशन न देने की शिकायत की जिस पर जिलाधिकारी ने जिला पूर्ति अधिकारी को राशन वितरण प्रकरण की अनियमितता की जांच करने और दोषी के विरूद्ध कार्यवाही करने के लिये निर्देशित किया। इसी प्रकार शिकायतकर्ता राम अभिलाष प्रजापति निवासी कन्धईमधुपुर ने शिकायत किया कि ऊसर खाते की जमीन को नाप कर अलग कराये जाने के सम्बन्ध में कहा जिस पर जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी पट्टी को ग्रामसभा कन्धईमधुपुर में कैम्प लगाकर जमीन सम्बन्धित विवादों के निस्तारण के लिये आदेशित किया। शिकायतकर्ता सुमन पत्नी रामदास निवासी नरहरपुर ने मृत्यु प्रमाण पत्र ग्राम पंचायत अधिकारी द्वारा जारी करने के शिकायती की जिसे डी0एम0 ने उक्त प्रकरण की जांच खण्ड विकास अधिकारी मंगरौरा निर्देशित किये और दोष सिद्ध पाये जाने पर कार्यवाही करने के निर्देश दिये। सम्पूर्ण समाधान दिवस में आयी हुई शिकायती प्रार्थना पत्रो को गम्भीरता से लेते हुये जिलाधिकारी ने विभागीय अधिकारियों को इस दिशा निर्देश के साथ उनको हस्तगत की गयी कि शिकायतों का निस्तारण एक सप्ताह के अन्दर यथाशीघ्र किया जाये इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दास्त नही की जायेगी। 

सम्पूर्ण समाधान दिवस में जिलाधिकारी ने जिला स्तरीय अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि तहसील दिवस के शिकायतों के प्रकरण डिफाल्टर की श्रेणी में आ रहे है यह अत्यन्त ही गम्भीर विषय है इससे यह सिद्ध होता है कि अधिकारियों के द्वारा शिकायतों के निस्तारण में लापरवाही बरती जा रही है। उन्होने कहा कि प्रदेश स्तर पर आई0जी0आर0एस0 सम्बन्धित शिकायतों के निस्तारण की समीक्षा की जाती है जिसमें शिकायतों के निस्तारण में रैकिंग व्यवस्था लागू है, अधिकारीगण शिकायतों के निस्तारण में तेजी लाये जिससे जनपद की रैकिंग में और बेहतर सुधार हो सके। डिफाल्टर सन्दर्भ में ज्यादातर शिकायतें ब्लाक स्तर से, जिला पूर्ति अधिकारी और थाने से सम्बन्धित है। प्रायः शिकायतों के निस्तारण में यह देखा जाता है कि पुलिस विभाग द्वारा यह रिपोर्ट लगा दी जाती है कि राजस्व टीम उपलब्ध न होने के कारण उक्त प्रकरण का निस्तारण न हो सका और तहसील के राजस्व विभाग द्वारा यह रिपोर्ट लगायी जाती है कि पुलिस बल की उपलब्धता न होने के कारण शिकायतों का निस्तारण नही हो सका इस प्रकार की आख्या देना अत्यन्त लापरवाही की श्रेणी में आता है और इस प्रकार से निस्तारित शिकायतें डिफाल्टर की श्रेणी में चली जाती है। उन्होने कहा कि थाना समाधान दिवस पर राजस्व विभाग और पुलिस प्रशासन टीम बनाकर भूमि की पैमाइश सम्बन्धित आदि शिकायतों का निस्तारण मौके पर जाकर गुणवत्तापूर्ण तरीके से किया जाये।


सम्पूर्ण समाधान दिवस के पश्चात् जिलाधिकारी शम्भु कुमार एवं पुलिस अधीक्षक सन्तोष कुमार सिंह ने पर्यावरण दिवस (05 जून 2018) के अवसर पर तहसील पट्टी परिसर में रूद्राक्ष के वृक्ष का वृक्षारोपण किया। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने लोगों से अपील की कि अधिक से अधिक वृक्ष लगाये जिससे पर्यावरण का संतुलन बना रहे। 
आज के सम्पूर्ण समाधान दिवस में जिला विकास अधिकारी सुदामा प्रसाद, मुख्य चिकित्साधिकारी अरविन्द कुमार श्रीवास्तव, उपजिलाधिकारी पट्टी जे0पी0 मिश्रा सहित जनपद स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।